श्रीराम ने विश्वामित्र जी के कहने पर किया था तीन नारियों का मरन, तरन और वरन!!

  श्रीराम जब गुरु वशिष्ठ के आश्रम से विद्या प्राप्त करके वापस अयोध्या आये तब महर्षि विश्वामित्र जी महाराज दशरथ

Read more

शिवजी के त्रिशुल का रहष्य!!

भगवान् शंकर अनादि है। उनकी कभी जन्म या मृत्यु नहीं होती। फिर भी जब महाप्रलय के बाद सृष्टि प्रारम्भ होती

Read more
Skip to toolbar